एकता की ताक़त ।। Motivational Moral Story

एकता की ताक़त ।। Motivational Moral Story :-

Motivational Story'achi kahani" moral story"hindi story"achhi Kahani"
Motivational Story

एक दिन सुबह का वक़्त था जब राम दादा अपने विद्यार्थी को पढ़ा रहे थे , तभी उसमे से एक बच्चे ने राम दादा से पूछा की एकता का क्या फायदा है ..? हम अकेले भी खुशी से रह सकते है और कोई साथ हो तो हम उनके साथ भी रह सकते है फिर लोग एकता पर इतना ज़ोर क्यू देते है..

फिर राम दादा ने कहा इसके लिए मे तुम्हे एक कहानी सुनता हू ,
एक समय की बात है एक गाँव मे चार भेस रहती थी, उन चारों मे बहुत गहरी दोस्ती थी एक दूसरे के बिना वो कही नही जाती थी,

जब भी मन करता वो चारो जंगल मे घास खाने के लिए चली जाती ये पता होने के बावजूद भी की उस जंगल मे जंगली पशु , प्राणी रहते है,

उस प्राणी मे एक शेर भी था , एक दिन शेर ने इस भेसों का शिकार करने का निर्णय लिया,

जब ये चारो घास खाने के लिए जंगल मे आई तभी शेर ने उस पर हमला कर दिया पर चारो ने साथ मिलकर शेर को पछाड़ दिया और शेर वाहा से भाग गया

कई बार शेर और अन्य जंगली प्राणी ने इसका शिकार करने का निर्णय लिया और इसकी एकता के कारण वो सभी नाकाम रहे,

और हर बार ये चारो भेसे जीत जाती,
फिर एक दिन उन चारों के बीच किसी बात से अनबन हो गयी , और उन सभी ने एक दूसरे से बोलना बंद कर दिया , पर अभी वो चारो एक साथ ही रहती , फिर एक दिन उन मे से एक ने कहा अब हमे एक दूसरे से बोलना नही है तो हम अलग अलग हो जाते है और अपनी मर्ज़ी से रहते है , सभी ने इसका स्वीकार किया और अलग हो गये,

इस बात की खबर शेर के कान लगी तो उसने इस मौके का फ़ायदा उठाने की सोची , फिर एक दिन एक भेस जंगल मे घास खाने के लिए गयी तो जैसे ही शेर को पता चला उसने उस पर हमला कर दिया और उसका शिकार हो गया, 
इस तरह बारी बारी से सारी भेसे शेर के शिकंजे मे आ गयी और मारी गयी,
और आख़िर वो शेर जीत गया,

कहानी ख़त्म करने के बाद राम दादा ने कहा जब वो चारों भेसे एक साथ थी तभी अपनी जिंदगी खुशी से रहती थी पर हर बार वो शेर की हार होती थी और ये जीत जाती थी क्यूंकी सब साथ मे थे पर जब अलग हुए तो लगा की हम ज़माने से लड़ लेंगे हममे शक्ति है पर पहली बार मे ही शेर ने शिकार बना लिया ,

ठीक इसी तरह हमारे जीवन मे भी ऐसा ही है जब तक साथ साथ रहेंगे ज़िंदा रहेंगे 

अब मुझे मार दो । Achi kahani